इजराइल में धार्मिक प्रोग्राम के दौरान मची भगदड़, 40 लोगों की मौत।

इजराइल में धार्मिक प्रोग्राम के दौरान मची भगदड़, 40 लोगों की मौत।

फोटो बशुक्रिया [email protected]

संवाददाता शोएब म्यानुंर

प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने इसे “बड़ी त्रासदी” बताते हुए हर किसी से पीड़ितों के लिए दुआएं करने की अपील की है.

इजराइल में धार्मिक प्रोग्राम के दौरान मची भगदड़, 40 लोगों की मौत, 103 का इलाज जारी

फोटो बशुक्रिया [email protected]

उत्तरी इजराइल में यहूदियों के सबसे बड़े धार्मिक प्रोग्राम के दौरान शुक्रवार की सुबह भगदड़ मच गयी जिसमें कम से कम 40 लोगों की मौत हो गई है और कई लोग घायल हो गए. घटना माउंट मेरोन में लाग बाओमर के मुख्य आयोजन के दौरान हुई. इस प्रोग्राम में हजारों लोग शामिल हुए थे. इजराइल में बचाव सेवा के अधिकारी ने वारदात में 40 लोगों के मरने की पुष्टि की है.

इस प्रोग्राम हजारों लोग खासकर अति रूढ़िवादी यहूदी रब्बी शिमोन बार योचाई के सम्मान में इकट्ठा होते हैं. रब्बी शिमोन बार योचाई दूसरी सदी के संत थे जिन्हें यहीं दफनाया गया था. माउंट मेरोन में आयोजन के दौरान भीड़ पारंपरिक तौर पर अलाव जलाती है. घटना मध्यरात्रि के बाद हुई और भगदड़ की वजह भी स्पष्ट नहीं है. सोशल मीडिया पर जारी प्रोग्राम के दौरान के वीडियो में यहूदी लोग बड़ी तादाद में एक ही जगह पर जमा दिख रहे हैं.

एक प्रत्यक्षदर्शी ने आर्मी रेडियो स्टेशन को बताया कि लोगों की भीड़ एक ही दिशा में आने लगी. उन्होंने कहा, “ऐसा लगा जैसे मैं मरने वाला हूं. राहत एवं बचाव सेवा मेगन डेविड एडम ने ट्वीट किया कि वे 103 लोगों का इलाज कर रहे हैं जिनमें 38 की हालत गंभीर है. इजराइल की मीडिया ने इससे पहले खबर दी थी कि एक बड़ा स्टैंड ढह गया. हालांकि बचाव सेवा ने कहा कि सभी लोग भगदड़ में घायल हुए हैं.

इजराइल की सेना ने बताया कि उसने इलाके में हुई इतनी बड़ी घटना में मदद के लिए हेलीकॉप्टर के साथ दवाइयां और खोज व बचाव टीम को भेजा है. हालांकि उसने घटना की प्रकृति को लेकर कोई जानकारी नहीं दी. वहीं प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने इसे “बड़ी त्रासदी” बताते हुए हर किसी से पीड़ितों के लिए दुआएं करने की अपील की है.